Haunted Book Story in Hindi || पुरानी किताब की कहानी

नमस्कार दोस्तो , स्वागत है आप्का नई रहस्यमय कहानिया मे । आज ह्म Haunted Book Story in Hindi बतानॆ ज रहे है | अगर आपको ऎसी ही और मजेदार कहानी देखनी है , तो हमारी वेबसाइत् की अन्य पोस्त जरुर देखिएगा आपको निस्चित हि पसन्द आयेगा।

Haunted Book Story in Hindi
Haunted Book Story in Hindi

शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा हो जिसने अपने जीवन में तथाकथित वास्तविक भूतहा कहानी ना सुनी हो. अपने बड़े-बुजुर्गों या अन्य परिवारजनों से आपने कुछ ऐसे किस्से जरूर सुने होंगे जिन्हें सुनने के बाद आपके भीतर थोड़ी बहुत जिज्ञासा और अत्याधिक भय या दहशत पैदा हो गई होगी |

Haunted Book Story in Hindi

स्ट्रेंज फोटोज एक लड़के के बारे में एक डरावनी कहानी है जो एक पुरानी किताब में मिली तस्वीर से डर जाता है।

चार्ल्स को पुरानी किताब तब मिली जब वह 12 साल के थे। यह उसके घर की अटारी में एक पुरानी किताबों की अलमारी के पीछे फंसा हुआ था। किताब का कवर गायब था और अंदर के कुछ पन्ने भी गायब थे। यह भयावह भूतों की कहानियों की एक किताब थी लेकिन कवर के बिना, चार्ल्स कभी भी निश्चित नहीं हो सकते थे कि ये कहानियाँ वास्तविक थीं या बस मनगढ़ंत थीं।

रात में बिस्तर पर लेटे हुए चार्ल्स चुपचाप कहानियाँ पढ़ते थे। उन्होंने उसे डरा दिया, लेकिन किसी कारण से, वह खुद को उनमें से प्रत्येक को बार-बार पढ़ने से नहीं रोक सका। उसका दिल ज़ोर-ज़ोर से धड़क रहा होगा और उसकी साँसें उसके गले में अटक रही होंगी, फिर भी वह किताब को नीचे रखने में असमर्थ महसूस कर रहा था।

पुस्तक में केवल एक ही चित्रण था, बीच के पन्नों में एक अकेली अजीब तस्वीर थी। चार्ल्स कभी भी इसे देखना सहन नहीं कर सका। फोटो के बारे में कुछ बात ने उसे परेशान कर दिया, लेकिन उसने खुद को घंटों तक इसमें फंसा पाया। उसे कभी समझ नहीं आया कि यह तस्वीर उसके लिए इतना अजीब आकर्षण क्यों है।

चित्र में ऐसा कुछ भी नहीं था जिससे उसे इतना डर और भय हो। इसमें केवल एक खाली धातु की सीढ़ी दिखाई दी जो अंधेरे की ओर जाती थी। क्या यह किसी चीज़ या अंधेरे में छिपे किसी व्यक्ति का डर हो सकता है? शायद बात यह थी कि जंग लगी धातु की सीढ़ियाँ ऐसी दिखती थीं मानो वे खून से लथपथ हों।

किसी कारण से, फोटो ने उसे इतना भयभीत कर दिया कि अंततः वह टूटने की स्थिति तक पहुँच गया। उसने उसे किताब से फाड़ दिया और कूड़ेदान में फेंक दिया। चार्ल्स ने सोचा कि यह सब ख़त्म हो जाएगा, लेकिन उसने पाया कि वह इस तस्वीर को अपने दिमाग से निकालने में असमर्थ था।

जब वह रात को सोता था, तो उसे बुरे सपने में खाली धातु की सीढ़ियाँ दिखाई देती थीं और वह हमेशा ठंडे पसीने से भीगा हुआ उठता था। यह अजीब तस्वीर उन्हें वर्षों तक परेशान करती रही। जैसे-जैसे वह बड़ा होता गया, उसे अक्सर फोटो की याद आती और फिर बुरे सपने आना शुरू हो जाते। ऐसा लग रहा था जैसे उसने फोटो में जो देखा वह कभी भी अनदेखा नहीं हो सकता।

एक रात कॉलेज से घर जाते समय, चार्ल्स ने एक अंधेरी गली से होते हुए शॉर्टकट रास्ता अपनाया और उसे एक ऐसा दृश्य दिखाई दिया जो उसे बहुत परिचित लग रहा था। आगे, उसे वही जंग लगी धातु की सीढ़ियाँ दिखाई दीं जो कई सालों से उसके सपनों में घूम रही थीं।

चार्ल्स को अपनी रीढ़ की हड्डी में ठंडक महसूस हुई और उसे अचानक भागने की इच्छा हुई। लेकिन उसकी जिज्ञासा उस पर हावी हो गई। उसे यह पता लगाना था कि सीढ़ी ने उसे इतना परेशान क्यों किया था।

चार्ल्स सावधानी से सीढ़ियों के पास पहुंचा और नीचे फैले अँधेरे की ओर देखने लगा। घबराहट में उसका दिमाग घने अंधेरे में अजीब आकृतियों को पहचानने लगा। वह जमीन के नीचे से आने वाली अजीब आवाजें और कराहें सुन सकता था।

जैसे ही चार्ल्स सीढ़ियों के शीर्ष पर खड़ा हुआ, वह डर से कांपने लगा। वह मुड़कर जाने ही वाला था कि उसने कुछ अजीब सुना। एक फुसफुसाहट या धीमी कराह। उसने नीचे देखा और चिल्लाने लगा